ताऊ देवी लाल की समाधि से नई पारी की शुरूआत करेंगे 'दुष्यंत-दिग्विजय'

चंडीगढ़: 5 नवंबर सुबह 11 बजे दिल्ली स्थित चौधरी देवी लाल की समाधि संघर्ष स्थल (राज घाट) पर सांसद दुष्यंत चौटाला, दिग्विजय चौटाला व अन्य नेतागण भारी जनसमूह के साथ पहुंच रहे हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार दुष्यन्त व दिग्विजय 5 नवम्बर की इसी जगह से नई राजनैतिक पारी की पृष्ठभूमि तैयार करेंगे। इनके पिता डॉक्टर अजय चौटाला भी पेरोल पर इसी दिन इन सबके साथ होंगे व पारिवारिक विचार विमर्श की औपचारिकता के बाद दोनों भाई इनेलो से हुए निष्कासन के बाद पहली बार अपनी रणनीति का ऐलान कर सकते हैं।
Haryana News haryana news in hindi popular
गौरतलब है कि पार्टी से निष्कासन के बाद दुष्यंत चौटाला सिरसा अपने निवास पर पंहुचे। जहां कार्यकर्ताओं के साथ दुष्यंत ने मुलाकात की वहीं कार्यकताओं ने डॉ. अजय जिंदाबाद, दुष्यंत चौटाला जिंदाबाद के नारे लगाए। साथ ही ताऊ देवी लाल अमर रहे के नारे भी लगाए गए। दुष्यंत चौटाला ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि अभी तक उनके पास कोई नोटिस नहीं आया है। जब आएगा तब ही कोई टिप्पणी कर पाएंगे। वहीं उनके कार्यकर्ताओं ने दुष्यंत चौटाला का साथ देने की बात कही है। उन्होंने कहा कि दुष्यंत चौटाला जहां जायेंगे वे भी वही जायेंगे। कुछ कार्यकर्ताओं ने दुष्यंत चौटाला के पार्टी से निष्कासित होने के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कयास यही लगाए जा रहे हैं कि 5 नवंबर को अजय चौटाला के जेल से पैरोल पर बाहर आने के बाद ही कोई बड़ा फैसला लिया जायेगा। गौरतलब है कि गोहाना रैली के बाद दुष्यंत और दिग्विजय के खिलाफ इनेलो द्वारा पार्टी का अनशासन तोडऩे का आरोप लगाते हुए नोटिस जारी किया गया था, जिसके बाद पार्टी सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला ने बड़ी कार्यवाही करते हुए दोनों भाइयो को पार्टी से निष्कासित कर दिया।