कौन है जींद की रेस में आगे? जातिगत समीकरण पर है सबकी नजर

चंडीगढ़: जींद विधानसभा उपचुनाव के लिए प्रचार थम गया है। मतदान के काउंटडाउन ने सियासी सरगर्मी को बढ़ाया हुआ है। सभी दिग्गज जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं। वहीं शनिवार शाम पांच बजे के बाद शोर-शराबा पूरी तरह से शांत हो गया है। प्रचार के आखिरी दिन सत्तारूढ़ बीजेपी के अलावा कांग्रेस और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी ने रैली और रोड-शो के जरिये शक्ति प्रदर्शन किया।
Haryana Live news Haryana News haryana news in hindi Haryana news live haryana samachar popular
भाजपा ने दिवगंत हरिचंद मिड्डा के बेटे कृष्ण को अपना उम्मीदवार बनाया है। हरिचंद मिड्डा का अपना एक वोट बैंक है। बीजेपी गैर जाट का कार्ड खेलकर मजबूत दिखाई दे रहे हैं। मुख्यमंत्री सहित सरकार के सभी मंत्रियों प्रचार में जुटे है।
कांग्रेस उम्मीदवार रणदीप सिंह सुरजेवाला जाट और गैर-जाट के बीच पहुंच बनाये हुए हैं। ऐसे में उनकी मौजूदगी मजबूत है।
दुष्यंत का जींद में ग्राउंड स्तर पर पहले ही किया गया होमवर्क उनकी पार्टी के समर्थित उम्मीदवार दिग्विजय सिंह चौटाला को मुकाबले में लाने में कामयाब होता दिख रहा है। आम आदमी पार्टी के साथ आने से उन्हें मजबूती मिलेगी।
इनेलो ने जाट नेता उमेद रेढू पर दांव खेला है। अभय समेत पार्टी के नेता प्रचार तो कर रहे हैं लेकिन पिछले दो-तीन दिनों से प्रचार से ज्यादा जेजेपी उम्मीदवार दिग्विजय सिंह चौटाला और उनके बड़े भाई दुष्यंत चौटाला पर वार कर रहे हैं।
लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी ने ब्राह्मण उम्मीदवार को मैदान में उतार सैनी और पिछड़ा वर्ग की जातियों को एक प्लेटफार्म देने की कोशिश में राजकुमार सैनी जुटे हैं।
फिलहाल तो चुनाव का काउंटडाउन तेजी से कम हो रहा है और सिर्फ आज का दिन शेष है। सभी राजनीतिक पार्टियां अपना होमवर्क भी लगभग पूरा कर चुकी हैं। 28 जनवरी को जींद उपचुनाव की वोटिंग होनी है। जीत का सेहरा किसके सिर बंधेगा ये 31 दिसंबर को साफ हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *