रेवाड़ी को 'एम्स' ना मिलता तो हरियाणा विधानसभा में BJP को 2 सीटें भी नसीब नहीं होती: राव इंद्रजीत

रेवाड़ी: केंद्र सरकार ने इस बार के बजट में हरियाणा को एम्स की सौगात दी है जिसके बाद अब इस पर श्रेय लेने की होड़ शुरू हो गई है। रेवाड़ी में धरने पर बैठे लोगों की मुराद पूरी होने के बाद केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत धऱना खत्म करवाया। इस मौके पर हरियाणा को एम्स मिलने का श्रेय राव इंद्रजीत ने खुद को दिया।
Haryana Live news haryana news in hindi Haryana news live popular अपना जिला चुनें रेवाड़ी हरियाणा चुनाव 2019
राव ने साफ कह दिया कि रेवाड़ी को एम्स की सौगात उन्हीं की देन है। राव ने यहां तक कह दिया कि अगर एम्स ना मिलता तो हरियाणा विधानसभा चुनाव में बीजेपी को दो सीटें भी नसीब नहीं होती। हालांकि विरोधी कुछ और ही कह रहे हैं। अहीरवाल के ही कांग्रेस नेता कैप्टन अजय यादव का कहना है कि रेवाड़ी को एम्स का मिलना विपक्ष के नेताओं और 28 गांवों के संघर्ष का नतीजा है।
बता दें की मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने 2015 में बावल में रैली कर मनेठी में एम्स बनाये जाने की घोषणा की थी। घोषणा पर काम नहीं हुआ तो इलाके के लोग 2 अक्तूबर से अनिश्चिकालीन धरने पर बैठ गए थे, जिसके बाद अलग-अलग पार्टियों के दिग्गज नेताओं ने एम्स की मुद्दे पर खूब सियासत की। एम्स का मुद्दा सरकार की गले की फांस बन गया। और आखिरकार सरकार को घोषणा करनी पड़ी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *